My Daily Strength

परमेश्वर का बुलाहट -- डॉ. जे सैमुएल सुधाकर

आज के लिए अनुच्छेद : '... तभी मै ने उसको बुलाया और आशीष दी और बढ़ा दिया ' यशायाह 51:2

परमेश्वर सभी को अलग-अलग उनके नाम से बुलाता हैं। उसने आपको नाम दिया और आपको अपनी माँ के गर्भ में बनने से पहले चुना। ऐसे ही केवल आप उसके बुलाहट को प्रतिदान करते हैं। कई लोग परमेश्वर का आह्वान स्वीकार करते हैं और उनके जीवन काल में उनका पालन करते हैं। वे खुद के लिए और कलिसीया के लिए एक आशीर्वाद हैं।

परमेश्वर ने अब्राहम को बुलाया और उसे चुना जब वह अपने पिता तेराह के साथ था। अब्राहम एक ऐसी पृष्ठभूमि से आया जो यहोवा के बारे में नहीं जानते थे। लेकिन फिर भी जब परमेश्वर ने अब्राहम को बुलाया तो उसने परमेश्वर पर भरोसा किया और उसके वचन पर विश्वास किया। वह ईमानदारी से परमेश्वर का पालन किया। परमेश्वर ने उसे एक अद्भुत वचन दिया। यहोवा ने उसे बताया कि वह उसे आशीर्वाद देगा। अब्राहम के कुल आत्मसमर्पण ने उन्हें परमेश्वर के प्रचुर आशीषों का उत्तराधिकारी बनाया।

उत्पत्ति 22:17 में परमेश्वर ने उसे और अधिक आशीर्वाद देना शुरू किया। उसने उस से कहा, 'इस कारण मै निश्चय तुझे आशीष दूंगा, और तेरे वंश को अनगिनत करुँगा।' यहोवा अब्राहम को आशीर्वाद देने और बढ़ाने मे प्रसन्न हुए कि वे राष्ट्रों के लिए एक पिता बन गये। परमेश्वर अब्राहम के लिए आशीर्वाद का एक स्रोत बन गया।

इब्रानियों 13: 8 कहता है कि यीशु कल, आज और हमेशा के लिए समान है। आज आपके बुलाहट के बारे में सुनिश्चित करें क्योंकि यह केवल परमेश्वर है जिसने आपको चुना है। आपकी हड्डियों या मांस को आपकी मां के गर्भ में बनाया जाने से पहले, परमेश्वर ने आपको अपने आशीर्वाद के उत्तराधिकारी होने के लिए अपने बेटे या बेटी होने के लिए ठहराया था। परमेश्वर का हाथ को ना चूके जो आपके अच्छे के लिए है। अपने आप को नम्र करे और अपने पाप कबूल करे। अपने जीवन में उनके नेतृत्व की अनुमति दें। परमेश्वर आप अभी जो है उससे एक हज़ार गुना ज्यादा बढ़ाना चाहता है।

प्रार्थना : यहोवा, मेरा जन्म लेने से पहले मुझे चुनने के लिए धन्यवाद। आमीन।


विचार : जिन्हे यहोवा बुलाता है वे धन्य रहेंगे।